How to convert TV into SMART TV- Turorial

How to convert TV into SMART TV-Turorial



I am using this product Anycast for more than 4 months time. This is working absolutely fine. I was doubtful after reading some negative comments. But here are two three tips from my side before ordering this product.

1. Your smart phone must be upgraded 4G, with at least 2GB RAM (otherwise it may buffer.
2. You must have Wi-fi net connectivity with speed of 2GB. Old style 512 MB or 1 GB plan NET does not work with it.
3. Your TV set must have HDMI slot and USB slot, if your TV do not have USB slot, then it wont work.
4. Do not pay ditto attention to leaflet with this product. The leaflet is misguiding. Company has not paid attention to rectify it. Its confusing, if you go through the leaflet. Throw out the leaflet. 

Now download "Miracast" application in your phone. If your smart phone has 1 GB RAM it will heat up. So be careful to select 2GB RAM phone.



Make sure, your TV set has enough space between back portion and the Showcase- Cupboard or wall of your house.  If you do not have space of 6 to 8 inches then you have to purchase another additional extension "HDMI male female" cable. I will suggest to go for 'L" shape extension. 


Now please pay attention to the Male part of the Anycast device or extension cable. It may be plated with yellow material, so take a shaving blade or sharp blade and make some screeches on this yellow coating. If possible clean the surface until and unless you see shiny steel inside. This helps fast current flow. 

If your TV is more than 2 years old, then please check HDMI slot it might have jammed by dust. Take little petrol or nail paint remover or sewing machine oil ( but not take coconut hair oil ) on ear buds and clean HDMI slot properly. Now you are ready with the basic things. 


Connect Anycast device to TV set. Put TV on HDMI mode. Insert USB port in USB slot. Start TV. On screen  it will show Air play mode and Mira cast mode.
Now on the Anycast device has very small button at the back side find it out and press it, you will be able to select Miracast mode.


Here on your smart phone start Miracast application. Then get it connected. That's it. now your smart phone screen is shared with TV. 



To avoid buffering what I did, i downloaded youtube video on my phone, another trick I did. I purchase another USB to smart phone connector cable so that I do not have to use my smart phone memory. I can directly connecting my Pen Drive to smart phone and can watch anything from Pen drive without buffering. 

If you follow above steps, you can enjoy this technology at very low cost.        

best video editors

The Best Video Editors 

We are the best video editors from India. We make film logo with special effect (please click link here)


https://youtu.be/rc4RGsx_4G8?list=PLSEx7S0Mcop603wEe7IeMqW0K9u2k6DWB

 Please see our logo moving at the end of above video. (Please check below link)



https://youtu.be/-hEoBxonx0k?list=PLSEx7S0Mcop603wEe7IeMqW0K9u2k6DWB

we give special effects (please check link here)


 https://youtu.be/F4Fih8JT7Fc?list=PLSEx7S0Mcop5DTHzULxcgUZJDkTL4Ydlu

(Check another work)



https://youtu.be/2vVdXp6xY4s?list=PLSEx7S0Mcop5DTHzULxcgUZJDkTL4Ydlu

We make short films also Please check following link



 https://youtu.be/-mky6ex4AdI?list=PLSEx7S0Mcop5DTHzULxcgUZJDkTL4Ydlu

You can also earn money by Google and Youtube. But to earn money from youtube, your video must have sophisticated presentation. We charge very little for youtube vloggers videos.Our charges starts from 2000=00 INR to max upto 20,00,000=00 depends on the project.

We make animations also, 2D animated films


 https://youtu.be/3bIiuel6is0

and 3D animated characters. Please check our 3D animated characters here



 https://youtu.be/LJOkiicbLpM?list=PLSEx7S0Mcop54VpaTotZ48CifmminHGnD

All characters in above documentary is designed and created by us.

We have the best voice over artist for your documentary which may work for free for you, if got editing with us.

3D modeling is our expertise..

We have the best talent to give proper sound effect to your presentation.

This work is done online also, so we can give service to any client in any state, in any country.

We also do the job-work for big studios who work on marriage videos and films.

We are professionals with time commitment. We just not ONLY edit your work, but add some innovative ideas sound effect, special effect to make your presentation.. world class !

 Please call or whatsapp on 9723106181 or simply email at ideazunlimited3@gmail.com



Other works



















 

मन की शांती कैसे पाये? आलेख 2


 मन की शांती कैसे पाये? .. 2

 

Click here to read in English



एक सुबह में मैंने पाया कि वाट्सप ग्रुप के कुछ सदस्य रात में 1 बजे तक 'मन की शांति' के बारे में चर्चा कर रहे थे। मैं "मन की शांति कैसे प्राप्त करें" इसके के बारे में कुछ बुनियादी बातों पर ध्यान देना चाहता हूं।

प्रकृति ने सभी प्रजातियों को दो (तीन) श्रेणियों में विभाजित कर दिया है। सबसे पहले ' diurnal ' यानी वो प्रजातियां हैं जो दिन की रोशनी में काम करती हैं और रात में आराम करती हैं। जैसे स्तनधारियों और, दूसरा ' nocturnal ' है जो रात में काम करता है और दिन के उजाले में आराम करता है। जैसे सर्पिन प्रजातियां (तीसरी श्रेणी है, जो पिछले 50 वर्षों के भीतर उभर रही है जिसे ' crepuscular ' कहा जाता है जो दिन की रोशनी और 'रात की रोशनी' पर भी काम करता है।

मानव मूल रूप से एक diurnal है। हजारो वर्ष पहले, जब मनुष्यों ने कृषि संस्कृति का आविष्कार किया, तब वह' सुबह जल्दी उठते हैं, तरोताजा होने के बाद कुछ खाते हैं, दोपहर तक खेत में कड़ी मेहनत करना शुरू करते हैं, दोपहर का भोजन लेते हैं, आराम करते हैं, फिर से काम में शामिल होते हैं , शाम तक। शाम को मनुष्य 6 या 7 बजे घर लौटता था। परिवार के साथ रात का खाना खाने के बाद बिस्तर पर 8 बजे जाता था। यह दिनचर्या हजारों सालों से वहां थी। मनुष्य प्रकृति कानून के अनुसार जीवित थे। उस समय शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य सही था।

लेकिन चार लोगों ने कुल मानवता को प्रभावित किया। पहला 'टेस्ला' था जिसने बिजली का आविष्कार किया था। सर हम्फ्री डेवी द्वारा तत्पश्चात इलेक्ट्रिक बल्ब का आविष्कार किया गया था (मुझे आपको बताना है, थॉमस एडिसन द्वारा इलेक्ट्रिक बल्ब का आविष्कार नहीं किया गया था, बल्ब का आविष्कार एडिसन के जन्म से 45 साल पहले किया गया था। कृपया ज्ञान अपडेट करें।)

अब मनुष्य 9 बजे तक जागने लगा। बल्ब की वजह से मानव जीवन से हमारी 1 घण्टे की नींद ले ली। दूसरा था जॉन लॉगी बेयरड, जिसने टेलीविजन का आविष्कार किया । अब लोग 10 बजे तक जागने लगे. (यदि आप ब्लेक एण्ड व्हाईट17 इंच टीवी और उसके कार्यक्रम को याद कर सकते हैं।) बाद मे  केबल टीवी, रंगीन टीवी सेट्स की क्रांति हावी हो गयी थी।

और फिर नेट और स्मार्ट फोन! कहानी यहाँ समाप्त होती है!

अब इंसान 'crepuscular' में बदल गया जो दिन की रोशनी और 'रात की रोशनी' पर भी काम करता है। प्रकृति द्वारा जिसकी अनुमति नहीं है।

अब मन, नींद और पाचन तंत्र की शांति के संबंध को समझने की कोशिश करें।
जब हम रात का खाना लेते हैं, तो मनुष्य 10 बजे के आसपास बिस्तर पर जाय। अपने शरीर को आराम करने की अनुमति दें अपने पाचन तंत्र को काम करने दें, अपने दिमाग को आराम करने दें। गहरी नींद में जाएं, दिमाग को ट्रान्स या थेटा स्तर प्राप्त करने दें। ताजा हो जाओ, सुबह जल्दी उठो और सही शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य प्राप्त करें।

इस के बजाय 1 बजे तक लोग स्मार्ट फोन के साथ खेलते हैं। वे भोजन को पचाने की अनुमति नहीं देते हैं। यह एसिडीटी और गैस की परेशानी को आकर्षित करता है। इसके मन में विपरीत अनुपात है और नतीजा यह है कि: मन की कोई शांति नहीं है। रिश्ते में तनाव, लंबे समय तक यह मधुमेह, उच्च रक्तचाप और ना जाने क्या क्या..।

इस आलेख का मोरल यह है, कि 10 बजे मोबाइल का स्विच ओफ करो बिसतर पर जाओ। सुबह 8 बजे मोबाइल चालू करें।

जैसे ही आप जागते हैं, 1 गिलास पानी लें। वाशरूम में जाओ, हर बुरा विचार धो लो। भगवान के लिए धन्यवाद दे दो कि आप जीवित हैं। भूल जाईये कि लोगों ने कल क्या कहा ... आज के वर्तमान में रहो। जीवन का आनंद लें।

मैं गारंटी देता हूं कि यह निश्चित रूप से दिमाग की शांति देगा।

अगर अभी भी संदेह है। कृपया चर्चा करें। डॉ जोशी

मन की शांति कैसे पाये 1


 मन की शांति कैसे पाये ..1

इस आधुनिक दुनिया में, अगर कोई मन की शांति चाहता है; तो एक ऐसे व्यक्ति से परामर्श कर सकते हैं जिसने मन की शांति प्राप्त की हो। वह 'विशेषज्ञ' हमेशा एक आध्यात्मिक व्यक्ति होता है। तब परेशान व्यक्ति को "आश्रम" में कुछ दिनों तक रहने के लिए कहा जाता है जो हमेशा पहाड़ों, नदी के पास या समुद्र किनारे 
पे रहता है।
प्रत्येक धर्म या पंथ का 'मन की शांति का सेण्टर' हमेशा प्रकृति से जुड़ा हुआ होता है।
फिर कुछ दिनों के लिए परेशान व्यक्ति से कहा जाता है * मोबाइल फोन, टीवी से दूर रहें, * कोई आधुनिक वाहन नहीं, कोई मसालेदार भोजन (पिज्जा, पानिपुरी) की अनुमति नहीं दी जाती है, यह कहा जाता है कि अनावश्यक शोर न करें, किसी के साथ बात न करें । प्रकृति की आवाज सुनो।  'ध्यान' में जाओ।

फिर कुछ दिनों के बाद एक व्यक्ति प्रकृति के करीब महसूस करता है और मन की शांति पाता है।


चलिये तकनीकी रूप से बात करते हैं।

एक मानवी दिमाग में 60,000 हर्ट्ज की सामान्य फ्रिक्वेंसी होती है, या सामान्य मानव के मगज में 60,000 विचार प्रति 24 घंटे होते हैं। आधुनिकीकरण या व्यक्तिगत अशांति के कारण यह आवृत्ति 80,000 हर्ट्ज तक बढ़ जाती है। 24 घंटे प्रति 80,000 विचारों के साथ रोगी परेशान होता है। 

इस तरह से इसे समझा जा सकता है, घर के उपकरणों पर बिजली का भार (वोल्टेज) अधिक हो जाता है तो क्या होगा? उपकरण गर्म हो जाता हैं, यह फट सकता है। यह मनुष्यों के साथ भी बिल्कुल होता है।

फिर प्रकृति की फ्रिक्वेंसी क्या है? प्रकृति की फ्रिक्वेंसी 6.7 हर्ट्ज है। जब भी किसी व्यक्ति को 24 घंटे प्रति 10,000 विचारों तक  शांत होने की अनुमति दी जाती है तो इसे दिमाग की परम शांति के रूप में जाना जाता है।

क्या होगा यदि कोई भी 10,000 विचारों से नीचे हो जाए, तो वह आध्यात्मिक व्यक्ति बन जाएगा। क्या होता है अगर कोई 1000 हर्ट्ज से कम हो जाता है? वह अपने परिवार को, अंतिम शांति और सत्य की खोज में छोड़ देगा। क्या होगा यदि कोई भी 6.7 हर्ट्ज आवृत्ति प्राप्त करता है, तो वह होगा .. बुद्ध, महावीर ...

टीवी का प्रतिकूल प्रभाव केवल हत्या, बलात्कार और नकारात्मक कार्यक्रमों को देखने पर होता है। टीवी के बारे में सकारात्मक बात, दुनिया भर में से लाइव ज्ञान प्राप्त करना है। स्मार्ट फोन के बारे में सकारात्मक बात, लोगों से जुड़ना है, बुरी चीज... बच्चोंका रात में 1AM, 2AM तक दोस्तों के साथ चैट करना है।

 समझने का मुद्दा यह है, कि विचारों पर नियंत्रण रखना और दिमाग की शांति प्राप्त करना ही हमारा जीवन है।
डॉ-जोशी

How to convert TV into SMART TV- Turorial

How to convert TV into SMART TV-Turorial I am using this product Anycast for more than 4 months time. This is working absolutely fi...