Travelling destination Surat Zoo


Travelling destination Surat Zoo



www.ideazunlimited.net
Zoo

सूरत शहर का नाम उन गिने चुने शहरों मे है, जिनके पास अपने प्राणी संग्रहालय है. हाल ही मे 'उत्कृष्ट' संगाहलयोन्मे इसकी गिनती हुयी है. गर्मी की छुट्टियोमें यहाँ बहोत ही ज्यादा भीड हो जाती है. यहाँ आप कई घण्टे बिता सकते है. क्योंकि शेर चीता भालु जैसे खुंखार जानवरोंको इतने नजदीक से देखकर आपका जी नही भरता है. हिंदुस्थान मे सबसे पहला प्राणी संग्रहालय ब्रिटीशोने मुम्बई मे शुरू किया था. जो कि सूरत के मुकाबले काफी छोटा है. सूरत शहर के सरथाना मे 81 एकड एरिया मे फैला यह प्राणी संग्रहालय सूरत महानगरपालिका का बेहद सुंदर उपक्रम है. सूरत मे प्राणी संग्रहालय मे प्राणी, पंछी, सरिसृप की अलग अलग प्रजातियाँ रखी हुयी है. जिनका सम्भाल सूरत महानगरपालिका करती है. जिसके लिये आपको प्रवेश मूल्य देना पडता है, केवल 2 से 20 तक. ( सैलानियोंकी अलग अलग केटेगरी को देख लिजीए)
संगहालय के अंदर भी खान पान कि व्यवस्था है. लेकिन ध्यान रहे कि आप चलते चलते बहोत थकनेवाले है. इसीलिये दोपहर भोजन करके बारह बजे एण्ट्री किजिए. ताकि भटकते भटकते चार भी बज जाय तो आपको भूख के कारण बीच मे ही ना लौटना पडे.  
लोग अक्सर सर्वप्रथम दिखनेवाले प्राणियोंके पास ही भीड करते है. लेकिन सही मजा तो आगे है. पैसोन्मे ताकद जमाकर रखिये. अंदर का वातावरण बेहत सुखद एवम ठंडा है. क्योंकि अंदर आम के पेड और बहोत सारे पेड अपनी छाया जमाये हुये है.  
हिरनोंकी प्रजातियाँ, नील्गाय, खरगोश, बहोत बडे कछुए इनके साथ देखने लायक अगर कुछ है, तो कभी ना दिखनेवाली 'उद्बिलाऊ' 'विशाल 'मगरमच्छ' जलहस्ती(हिप्पो पोटोमस) सफेद मोर, काले मुँह वाला बंदर, पूंछ के नीचे लाल टपका वाला बंदर, लम्बी नाक वाला बंदर, विशाल काले लंगूर, ओरांग उटान बंदर, लायन हेड बंदर, चीतल, चीता, शेर, बाघ, ऐसे ना जाने कितनी प्रजातिया देखकर आप और परिवार के सभी सदस्य खुष हो जाते है.
यहाँ पर आनेवाले सैलानियोकी भीड कंट्रोल करने के लिये यहाँ सुरक्षा रक्षक तैनात है. विषेश पिंजडोंके सामने ही ज्यादा भीड होती है, वर्ना भीड होने के बावजूद भी विशाल प्राणी संग्रहालय खाली खाली लगता है.
सूरत रेल्वे स्टेशन से यहाँ जाने के लिये सिटी बस का भी इस्तेमाल आप कर सकते है, या शेअर रिक्षा भी यहाँ जाने के लिये बेहतरीन ओप्शन है.
संग्रहालय के आजू बाजू मे पार्किंग कि सुविधा है. बाहर कि तरफ कुछ अच्छे मोल है. और शाम के वक्त यहाँ फलोंकी सब्जियोंकी दुकाने सजती है.
सग्रहालय के अंदर स्वच्छ प्रसाधन गृह मिलेंगे. कुल मिलाकर आपका अनुभव बेहद सुखद रहता है. खास करके बच्चोंके लिये यह जगह किसी अजूबे से कम नहीं. बच्चोंकी रिएक्शन से पता चलता है, कि प्राणियिंको अपने सामने जिंदा देखकर एक अलग ही दुनिया का रोमांच उन्हे अनुभूत होता है. तो आइये इस प्राणी संगहालय कि हम सैर करे.

No comments:

How to convert TV into SMART TV- Turorial

How to convert TV into SMART TV-Turorial I am using this product Anycast for more than 4 months time. This is working absolutely fi...